Thursday, 26 August 2021

Chehre Movie: Emraan Hashmi, Amitabh Bachchan in a Mysterious Thriller

Chehre is a 2021 Indian Hindi-language mystery thriller film directed by Rumy Jafry with production by Anand Pandit Motion Pictures and Saraswati Entertainment Private Limited starring Amitabh Bachchan and Emraan Hashmi as leads. The film featuring Krystle D'Souza, Rhea Chakraborty, Siddhanth Kapoor, Annu Kapoor, Dhritiman Chatterjee and Raghubir Yadav in other pivotal roles sees Bachchan playing a lawyer, while Hashmi a business tycoon.

chehre movie

A snowstorm leads an advertising professional to a sinister mansion as surely as a decades-old German novel results in the plot of Rumy Jafry’s Chehre. 80-year-old man with a penchant for a true life game together with his group of friends. They conduct a mock trial and choose if justice has been served, if not they create sure justice has been served.


The large house during which the stranded Sameer (Emraan Hashmi) takes shelter features a welcoming fireplace, a well-stocked bar and elderly occupants who throw loaded looks in his direction.

Chehre Review: दो बड़े सितारों वाली फिल्म लंबे समय बाद थिएटरों में है. अमिताभ बच्चन और इमरान हाशमी के फैन्स को यह फिल्म मजा देगी. अदालती खेल की इस कहानी का रोमांच बांधता है.


असली अदालती मामलों में भले ही तारीख पर तारीख मिलती है मगर फिल्मों में दो-ढाई घंटे में ही काम तमाम हो जाता है. यही मजा भी है. थिएटरों में सिनेमा की वापसी हो चुकी है और अक्सर रूमानी-कॉमिक फिल्में लिखने वाले रूमी जाफरी बतौर निर्देशक कसी हुई थ्रिलर-मिस्ट्री लाए हैं. अदालतें नाटकीयता से भरपूर होती हैं और इस फिल्म में अदालत का नाटक है, जो असल से कम नहीं लगता. न्याय की दुनिया के कुछ रिटायर्ड बूढ़े अपनी हर शाम एक घर में इकट्ठा होते हैं और वहां कोई केस बनाकर अपनी अदालत लगाते हैं.


कभी-कभी उन्हें कोई व्यक्ति भी मिल जाता है, जिसके मामले पर वह अदालत जैसी जिरह कर लेते हैं और फैसले तक भी पहुंचते हैं. चेहरे बताती है कि अदालतें फैसले करती हैं, न्याय नहीं! फैसले और न्याय में फर्क है. फैसला तथ्यों के आधार पर होता है. अतः जरूरी नहीं कि वह फैसला न्याय ही हो. फिल्म में मनाली की भीषण बर्फबारी में दिल्ली जाने के लिए निकला एक एड एजेंसी का सीईओ समीर मेहरा (इमरान हाशमी) बीच में ही फंस जाता है. 


Amitabh Bachchan is that the eccentric prosecutor Lateef Zaidi, Annu Kapoor the funnily serious defence lawyer Paramjeet Singh Bhuller, Dhritiman Chatterjee because the straight-faced judge Justice Jagdish Acharya, and Raghubir Yadav plays the ever-excited prosecutor Hariya Jatav. Together, these four men create tons of drama, deliver high-pitched lines, but it all goes through major turbulence before they need a smooth landing.
Loading...

0 comments:

Post a Comment